Wednesday, 10 May 2017

खतरे मे सनातन धर्म

मज़हब नही.सिखाता आपस मे बेर करना

लेकिन कोण सा मज़हब ?

सनातन धर्म....
जी हाँ ये सनातन धर्म मे हि सिखाया जाता हे.बाकी धर्मों मे नही...

एक और क्या बोलते हे वो आधा अधूरा श्लोक ....
अहिंसा परमो धर्म.

पूरा हे

अहिंसा परमो धर्म
धर्मे हिंसा तथेव च...

जानते हो ना पूरा क्यु नही सिखाया पढाया जाता ?
ताकि सनातन धर्मी चुप रहे दब्बू बनकर रहे और सहनशील बने रहे...
बचपन का हनुमान बनाकर रख दिया हे सनातन के दुश्मनों ने हमे...ताकि हम अपनी शक्ति पहचान ना पाये.
और सनातन के.दुश्मन धीरे धीरे हमे ख़त्म करते रहे..

इतिहास याद रखोगे तो इतिहास बनाते चलोगे
इतिहास याद नही रखोगे तो इतिहास बन जाओगे...

पहचानो अपने आपको..
अपने पूर्वजों के बारे मे पढ़ो.

अब और सहन किया तो मिट जाओगे
अकेले.अकेले.रहने.से.कट जाओगे
बस एक बार खुद को तुम जान लो
सनातन की ताकत को पहचान लो
नसों मे जमा खून फ़िर से दौड़ने लगेगा
सनातन पर प्रहार से खून खोलने लगेगा
जवाब जब विधर्मीयो को मिलने लगेगा
सनातन विश्वपटल पर कमल की भाँति
खिलने लगेगा......

मल्लब की बात नु हे की अब जब भी कोई हिंदू धर्म को नीचा दिखाने की कोशिश करे तो उस पर चुप मत रहो..

जेसे इस्लाम ज़रा ज़रा सी बात पर एक एजेंडे के तहत खतरे मे आजाता उसी तरह के एजेंडे पर चलो.
तुम भी सनातन के खतरे मे आने की घटनाओं पर आपत्ति पेश करो.तब देखो जलवा किस तरह भारत की इस्थीती बदलती हे.

जिस दिन सनातन धर्म के खतरे मे आने की बाते बनने लगेगी सच कहता हूँ पूरी बयार बदल जायेगी भारत की...

एक बार सनातन को खतरे मे करके देखो
( वेसे भी सनातन खतरे मे हि हे लेकिन कोई नही बोलेगा क्युँकि बोलते.हि अस्सी करोड़ एक हो जायेगे और धर्म के बारे मे चिंता करने लगेंगे.)

निशान्त बालियाण
साजन आवारा

No comments: